• image1

    Creative Lifesaver

  • image2

    Honest Entertainer

  • image1

    Brave Astronaut

  • image1

    Affectionate Decision Maker

  • image1

    Faithful Investor

  • image1

    Groundbreaking Artist

  • image1

    Selfless Philantropist

साईट का मुख्य मेनू

sponsored ads

20 May, 2016

राष्ट्रीय खेल पुरुस्कार

भारत में प्रतिवर्ष राष्ट्रीय खेल पुरुस्कार 29 अगस्त को हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्म दिन पर दिया जाता है।  यह पुरस्कार राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में भारत के राष्ट्रपति के हाथों वितरित किये जाते है।


राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार

भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार भारत का सर्वोच्च ( सबसे बड़ा ) खेल पुरस्कार है। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के नाम से इस पुरस्कार की शुरुआत सन् 1991 - 92 से की गयी है। यह पुरस्कार किसी वर्ष में किसी खिलाड़ी द्वारा किए गए खेलों में उत्कृष्ट एवं अभूतपूर्व प्रदर्शन के लिए दिया जाता है।
इस पुरस्कार के तहत खिलाड़ी को सम्मान स्वरूप एक पदक , प्रशस्ति पत्र तथा 7.5 लाख रुपये नगद प्रदान किये जाते हैं।
शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद यह पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रथम खिलाड़ी हैं ।
 राजीव गांधी खेल रत्न पुरुस्कार प्राप्त खिलाड़ियों की सूची क्लिक करे
राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार 2015
भारत की टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा को वर्ष 2015 का राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्हें यह सम्मान 29 अगस्त 2015 को भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी द्वारा राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में प्रदान किया गया। सानिया मिर्ज़ा यह पुरस्कार प्राप्त करने वाली दूसरी टेनिस खिलाड़ी हैं इससे पहले टेनिस में केवल लिएंडर पेस ही 1996 - 97 मे यह पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं । टेनिस में यह उपलब्धि हासिल करने वाली सानिया मिर्ज़ा पहली महिला खिलाड़ी हैं। सानिया मिर्ज़ा इससे पहले 2004 मे अर्जुन पुरस्कार तथा 2006 में पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त कर चुकी है।

अर्जुन पुरस्कार -

यह पुरस्कार भारत सरकार द्वारा 1961 से प्रारंभ किया गया है। अर्जुन पुरस्कार उन खिलाड़ी को दिया जाता है जिन्होंने पिछले तीन वर्षों में किसी खेल में राष्ट्रीय या अन्तराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया हो तथा उस खिलाड़ी में नेतृत्व क्षमता , खेल भावना एवं अनुशासन के गुण हो। अर्जुन पुरस्कार में खिलाड़ी को पुरस्कार स्वरूप एक प्रशस्ति पत्र, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा एवं 5 लाख रुपए नगद प्रदान किया जाता है।

वर्ष 2015 में यह पुरस्कार 17 खिलाड़ियों को प्रदान किया गया जिनके नाम निम्न हैं -

बजरंग कुमार ( कुशती ) , पी आर श्रीजेश ( हॅाकी ) एम आर पोवम्मा ( एथलेटिक्स ) सतीश शिवलिंगम ( वेटलिफ्टिंग ) जीतू राय ( शूटिंग ) मंजीत चिल्लर ( कबड्डी ) अभिलाषा म्हात्रे ( कबड्डी ) श्रीकांत किदांबी ( बैडमिंटन ) वाय संथोई देवी ( वुशु ) दीपा कर्मकार ( जिमनास्टिक ) संदीप कुमार ( तीरंदाजी ) अनूप कुमार यामा ( रोलर स्केटिंग ) मनदीप जांगड़ा ( बॅाक्सिंग ) रोहित शर्मा ( क्रिकेट ) स्वर्ण सिंह ( रोइंग ) बबीता कुमारी ( रेसलिंग)

द्रोणाचार्य पुरस्कार -

द्रोणाचार्य पुरस्कार का आरंभ 1961 से किया गया है। यह पुरस्कार ऐसे प्रशिक्षकों (कोच ) को दिया जाता है जिनके द्वारा प्रशिक्षित किये गए खिलाड़ी या टीम ने अन्तराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया हो। इस पुरस्कार के तहत् प्रशिक्षकों को गुरु द्रोणाचार्य की कांस्य प्रतिमा, प्रशस्ति पत्र एवं 5 लाख रुपए नगद प्रदान किया जाता है।
 वर्ष 2015 के द्रोणाचार्य पुरुस्कार विजेता 
नवल सिंह ( पैरा एथलेटिक्स ) अनूप सिंह ( कुशती ) हरबंस सिंह ( एथलेटिक्स ) स्वतंत्र सिंह ( बाक्सिंग ) निहार अमीन ( तैराकी ) 

ध्यानचंद पुरस्कार

भारत सरकार द्वारा वर्ष 2002 से यह पुरस्कार दिया जाता है। यह पुरस्कार खेलों में आजीवन उपलब्धि के लिए प्रदान किया जाता है। ध्यानचंद पुरस्कार उन खिलाड़ियों को को दिया जाता है जिन्होंने न केवल खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया हो बल्कि सक्रिय खेल जीवन से सन्यास के बाद भी खेलों के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया हो। इस पुरस्कार के तहत एक प्रशस्ति पत्र, धातु का तगमा तथा 5 लाख रुपए नगद प्रदान किया जाता है
वर्ष 2015 में ध्यानचंद पुरुस्कार से सम्मानित व्यक्ति -
रोमियो जेम्स ( हॅाकी ) , शिवप्रकाश मिश्रा ( टेनिस ) टी पी पी नायर ( वॅालीबॅाल )

मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्राफी

भारत सरकार द्वारा इस रनिंग ट्राँफी की शुरुआत 1956 -57 से की गई है। इस ट्राफी को प्रतिवर्ष उस विश्वविद्यालय को प्रदान की जाती है जिन्होंने अन्त - विश्वविद्यालय खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया हो । इस ट्राफी में प्रथम पुरस्कार के रूप में ट्राफी तथा 10 लाख रुपए नगद दिए जाते हैं। द्वितीय पुरस्कार में 1 लाख रुपए तथा तृतीय पुरस्कार 50000 रुपये नगद प्रदान किया जाता है।

सी के नायडू पुरस्कार

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI ) द्वारा वर्ष 1994 से यह पुरस्कार आरंभ किया गया है। यह पुरस्कार भारतीय क्रिकेट में असाधारण योगदान के लिए दिया जाता है।

No comments:

Post a Comment